From a lost letter

कड़वाहट की मीठी ख़ुशबू मोहब्बत के अफ़साने कुछ धीरे से गर्माते दिन में मिल जाएँ अनजाने कुछ ये ख़याल मिरे तुम लेते जाओ आधे हैं पैमाने कुछ शाम हुए जल उठते हैं जब आते जुगनू और परवाने कुछ अधूरी बातें, ख़्वाब मुकम्मल धुँधले कुछ, पहचाने कुछ बातें करते सन्नाटों में रिश्तों के ताने-बाने कुछ कुछ […]

क़ीमत Or قيمت

अपनी यादों को एक ख़ूबसूरत सी रेशम की पोटली में बाँधा और बेच आई । क़ीमत भी ठीक ही मिल गई । सोना आज कल बाज़ार में ३०,०००/१० ग्राम के भाव चल रहा था । घर की छत टपक रही थी । माँ ने उसे शादी पर जो अँगूठी भेंट दी थी, वह उसे बेच […]